श्री श्री मृणालिनी माता : गुरुजी के सानिध्य में

परमहंस योगानन्दजी पर श्री श्री मृणालिनी माता के शब्द :

“उन्होंने कहा था, ‘मेरे जाने के बाद, शिक्षाएँ ही गुरू होंगी।’”

वाईएसएस/एसआरएफ़ की चौथी अध्यक्ष और उनके द्वारा प्रकाशित साहित्य की मुख्य संपादक : परमहंस योगानन्दजी से 1945 में मिली

 

The Master’s great samadhi of 1948

From the DVD “In His Presence” (6:45 minutes)
ऑर्डर करें

The teachings will be the Guru

From the DVD “In His Presence” (1:58 minutes)
ऑर्डर करें

शेयर करें

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email