श्री श्री मृणालिनी माता, संघमाता तथा अध्यक्ष, योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ़ इण्डिया/सेल्फ़-रियलाइज़ेशन फ़ेलोशिप के 2014 के नव वर्ष सन्देश में से :

“इस वर्ष, जनवरी 31 को, हमारी प्रिय श्री श्री दया माता  के जन्म दिवस की सौवीं वर्षगांठ का अवसर है। उनके दिव्य जीवन ने हम सभी को स्पर्श किया है, और हालांकि उनकी आत्मा इस दुनिया से परे प्रकाश और आनंद के आनंदमय लोकों में स्वतंत्र है, जिस प्रेम और देखभाल को उन्होंने परमहंस योगानन्दजी के पूर्व और पश्चिम दोनों में आध्यात्मिक परिवार पर न्यौछावर किया वह अभी भी हमारे साथ है। गुरुदेव के शब्दों, ‘केवल प्रेम ही मेरा स्थान ले सकता है,’ को उनमें पूर्ण अभिव्यक्ति मिली और वह सदा उनके सुंदर उदाहरण के माध्यम से हमारी चेतना में गूंजेंगे।”

श्री दया माताजी की 100 वीं वर्षगांठ पर श्री मृणालिनी माताजी का विशेष सन्देश यहाँ पढ़ें

प्रेम,विनम्रता और इश्वर के प्रति निष्ठावान सेवा का जीवन

श्री दया माताजी ने एक असाधारण जीवन व्यतीत किया — लगभग अस्सी वर्ष जो अपने गुरु के आश्रमों में एक संन्यासी शिष्य के रूप में बिताए गए थे, ईश्वर के प्रति प्रेम और उसकी सेवा के लिए समर्पित कार्यों के लिए व्याप्त विचारों में डूब कर रहते हुए।

अधिक जानकारी हेतु…

श्री दया माताजी द्वारा परमहंस योगानन्दजी के संस्मरण

“ऐसी घटनाएँ जो आत्मा को स्पर्श करती हैं, वे कभी फ़ीकी नहीं पड़तीं; वे हमारे अस्तित्व का एक जीवंत, आकर्षक हिस्सा बन जाती हैं। ऐसी ही थी मेरी भेंट, मेरे गुरु परमहंस योगानन्दजी से।…”

वीडियो तथा अधिक जानकारी हेतु…

महावतार बाबाजी का आशीर्वाद: श्री दया माताजी का व्यक्तिगत दृष्टान्त

भारत में परमहंस योगानन्दजी के आश्रमों (अक्टूबर 1963 – मई 1964) की यात्रा के दौरान, श्री दया माता जी ने हिमालय की एक पवित्र गुफ़ा की तीर्थयात्रा की, जिसे महावतार बाबाजी की भौतिक उपस्थिति से पवित्र किया गया है।

अधिक जानकारी हेतु….

श्री दया माताजी के सन्देश

श्री दया माताजी ने पूरे साल और संकट के समय में विशेष संदेश दिए। वे दुनिया भर के भक्तों और मित्रों के मार्गदर्शन, प्रेरणा और आध्यात्मिक प्रोत्साहन का एक निरंतर स्रोत थे।

श्री दया माताजी के अंतिम सन्देश यहाँ पढ़ें…

विश्वव्यापी प्रार्थना मण्डल – श्री दया माताजी का आमंत्रण

श्री दया माताजी का आमंत्रण : “मैं आपको प्रार्थना की परिवर्तनात्मक शक्ति के माध्यम से दूसरों की सेवा करने में हमारा साथ देने के लिए आमन्त्रित करना चाहूँगी।…”

अधिक जानकारी हेतु…

श्री दया माताजी के चित्र — कई वर्षों में

Spring 2011 Self-Realization Magazine — वाईएसएस/एसआरएफ़ के आध्यात्मिक प्रमुख के रूप में श्री दया माताजी की विरासत का एक सचित्र प्रतिरूप

श्री दया माताजी पर योगदा सत्संग पत्रिका विशेषांक जनवरी-मार्च 2011 की एक निशुल्क पत्रिका अनुरोध पर उपलब्ध है। (केवल भारत में)

सत्संग का ऑडियो-वीडिओ

श्री दया माताजी की पुस्तकें तथा रिकॉर्डिंग

श्री दया माताजी की स्मृति में

पासाडेना सिविक ऑडिटोरियम में आयोजित सार्वजनिक स्मारक सेवा का पूरा वीडियो, दुनिया भर के संदेश और श्रद्धांजलि, मीडिया द्वारा विवरण और अधिक जानकारी।

अधिक जानकारी हेतु…

शेयर करें

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email