YSS

वाईएसडीएम – तिरुपति ने कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, पुन्गानुर, आंध्र प्रदेश में एक पीएचडीयू स्थापित की।

13 मई, 2022

28 अप्रैल, 2022 को योगदा सत्संग ध्यान मण्डली – तिरुपति (वाईएसडीएम – तिरुपति) द्वारा कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, पुन्गानुर, में एक विशेष 10 बिस्तर की पेडियाट्रिक हाई डिपेंडेंसी यूनिट (पीएचडीयू) स्थापित की गई जिसका उद्घाटन श्री पेड्डीरेड्डी रामचंद्र रेड्डी, एनर्जी,फॉरेस्ट्स, एनवायरनमेंट,साइंस एंड टेक्नोलॉजी,माइंस एंड जियोलॉजी मिनिस्टर, आन्ध्र प्रदेश सरकार द्वारा किया गया। जिन भक्तों ने इस स्वास्थ्यलाभ सुविधा को तैयार करने में प्रमुख योगदान दिया वे इस उद्घाटन के कार्यक्रम में शामिल हुए जो कि हॉस्पिटल डेवलपमेंट समिति, पुन्गानुर, आंध्र प्रदेश द्वारा आयोजित किया गया।

मार्च 2020 से, जब से कोविड-19 महामारी का भारत में व्यापक प्रकोप आरंभ हुआ, वाईएसएस ने देश भर में कई राहत कार्यक्रमों का आयोजन किया है। इनके बारे में संक्षिप्त विवरण एक अलग ब्लॉग में यहाँ पढ़ा जा सकता है।

बच्चों की स्वास्थ्य उपचार सुविधाओं को सुदृढ़ करने की आवश्यकता को समझते हुए और वाईएसएस द्वारा रांची में पीएचडीयू वार्डों की सफलता पूर्वक स्थापना के प्रभाव को अनुभव करते हुए वाईएसडीएम – तिरुपति ने पुन्गानुर में स्थानीय कम्युनिटी हेल्थ सेंटर के एक भाग को 10 बिस्तर के पेडियाट्रिक हाई डिपेंडेंसी यूनिट (पीएचडीयू) वार्ड में बदलने का कार्य हाथ में लिया। 2022 के आरंभ में कोविड-19 की तीसरी लहर के दौरान जब यह अनुमान था कि बच्चे अधिक खतरे में थे, यह कार्य शुरू किया गया।

वाईएसडीएम – तिरुपति ने कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, पुन्गानुर में एक विशेष पेडियाट्रिक हाई डिपेंडेंसी यूनिट स्थापित किया।

पीएचडीयू वार्ड में अब हाई-डिपेंडेंस मॉनिटरिंग यूनिट तथा सेमी-फाउलर बिस्तर लगे हैं जो कि समर्पित ऑक्सीजन आपूर्ति से जुड़े हैं। वाईएसडीएम – तिरुपति ने उच्च गुणवत्ता के उपकरण वार्ड में लगाये, जिनमें बच्चों के जीवन के आवश्यक अंगों पर लगातार नज़र रखने के लिए मल्टीपारा मॉनिटर; सिरिंज पंप; नेबुलाइज़र; पोर्टेबल सक्शन एपरेटस; आटोक्लेव मशीन; विशेष ऑक्सीजन मास्क; व्हील चेयर; स्ट्रेचर; उपकरण ट्राली; बिस्तर के निकट लाकर तथा स्क्रीन शामिल हैं।

वार्ड में आधुनिक स्वास्थ्य-जाँच यंत्र लगे हैं
वार्ड की दीवारों पर बच्चों की पसंद के अनुरूप रंगीन पेंटिंग लगी हैं

वाईएसडीएम – तिरुपति ने पेडियाट्रिक वार्ड की ईमारत की विस्तृत मरम्मत करवाई। पानी रिसने से बचने के लिए छत पर वाटर-प्रूफ कोटिंग करवाई। वार्ड के बगल में एक खेलने का क्षेत्र बनाया गया। नर्सों के फैसिलिटी रूम का नवीकरण किया गया तथा देखभाल करने वालों को इंडक्शन हीटिंग प्लेटें उपलब्ध करवाई गयीं। टॉयलेट् तथा बाथरूम का नवीकरण किया गया। वार्ड का पूरा काया-कल्प किया गया, दीवारों पर बच्चों की पसंद के अनुरूप पेंटिंग लगाई गयीं, बिजली की फिटिंग, टेलीविज़न तथा एयर-कंडीशनिंग का इंतजाम किया गया।

आदरणीय मिनिस्टर, श्री पेड्डीरेड्डी रामचंद्र रेड्डी ने योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ़ इण्डिया के योगदान की सराहना की जिन्होंने एक साधारण अस्पताल के एक हिस्से को उच्च गुणवत्ता तथा तकनीकी तौर पर संपन्न वार्ड के रूप में परिवर्तित कर दिया हालाँकि वह एक दूर दराज़ क्षेत्र में स्थित है। उन्होंने कहा कि इस कार्य से पुन्गानुर तथा आसपास के कम विकसित क्षेत्रों में रहने वाले बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य उपचार सहायता मिल सकेगी।

श्री एन रेडप्पा, सांसद, चित्तूर को आदरणीय अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था तथा डॉ बी वेंगम्मा, श्री वेंकटेश्वर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, तिरुपति की डायरेक्टर तथा उप-कुलपति, विशेष आदरणीय अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। दूसरे अतिथिओं में कई सरकारी तथा ज़िला प्रशासन के अधिकारी शामिल थे।

28 अप्रैल, 2022 को मुख्य अथिति रिबन काटते हुए
28 अप्रैल, 2022 को मुख्य अतिथि रिबन काटकर सुविधा का उद्घाटन करते हुए
वाईएसडीएम – तिरुपति के भक्त सीएचसी के अधिकारियों को ऑक्सीजन कन्सेंट्रेटर देते हुए

वाईएसडीएम – तिरुपति के एक वाईएसएस भक्त ने संस्था के लोकोपकारी कार्यों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने वाईएसएस की ओर से उन्हें इस कार्य का दायित्व सौंपे जाने के लिए भी आभार प्रकट किया जिससे पुन्गानुर के बच्चों का हित होगा।

प्रिंट मीडिया द्वारा रिपोर्ट

शेयर करें

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email