Blog

स्वामी चिदानन्द गिरि का गुरु पूर्णिमा 2021 पर संदेश

“ओ अविनाशी शिक्षक, मैं आपको मूक ईश्वर की मुखर वाणी के रूप में नमन करता हूं। मैं आपको मोक्ष के मंदिर तक जाने वाले दिव्य द्वार के रूप में नमन करता हूं।” —Sri Sri Paramahansa Yogananda प्रिय जनों, गुरु पूर्णिमा के इस विशेष दिवस पर मैं आपको हार्दिक बधाई एवं

विस्तार में पढ़ें »

हार्दिक कृतज्ञता — आपके सहयोग ने जानें बचाईं और हज़ारों को आश्वस्त किया

प्रिय दिव्य आत्मन, हाल के सप्ताहों में, भारत भर में कहर बरपाने वाली, कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर ने, अभूतपूर्व मानवीय संकट पैदा कर दिया, जिसने देश में प्रत्येक के परिवार और मित्रों को प्रभावित किया। वाईएसएस/एसआरएफ़ अध्यक्ष ने सुध ली हमारे आदरणीय अध्यक्ष श्री श्री स्वामी चिदानन्द गिरि ने

विस्तार में पढ़ें »

राष्ट्रव्यापी कोविड-19 राहत गतिविधियों में वाईएसएस की भागीदारी

प्रिय दिव्य आत्मन्, कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर ने भारत को एक अभूतपूर्व संकट में घेर लिया है। देश उन बड़ी चुनौतियों से उबरने के लिए संघर्ष कर रहा है, जिसमें चिकित्सीय सुविधाओं व उपकरणों का अभाव, कई ज़रूरी चिकित्सा आपूर्तियों की भयंकर कमी, और बेहद ज़रूरतमंद तथा अक्सर जीवन

विस्तार में पढ़ें »

स्मृतिशेष – स्वामी हितेषानन्द गिरि (1953 – 2021)

हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि हमारे गुरुदेव की योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ़ इण्डिया के एक वरिष्ठ संन्यासी शिष्य, हमारे श्रद्धेय स्वामी हितेषानन्द गिरि का 11 मई,  2021 को देहावसान हो गया है। कोविड के प्राथमिक लक्षण दिखते ही, उन्हें स्थानीय राँची अस्पताल ले जाया गया,जहां वह वायरस के

विस्तार में पढ़ें »

भारत में गुरुदेव के शिष्यों के लिए स्वामी चिदानन्दजी का एक प्रेरणादायक संदेश और प्रार्थनाओं का आश्वासन

प्रिय आत्मन्, अपने प्रिय भारत में इतने सारे भक्तों को कोविड महामारी से प्रभावित देखकर, मैं आपको यह बताना चाहता हूँ कि मैं आप सब के लिए गहनतम प्रार्थनाएँ कर रहा हूँ, और मानसदर्शन कर रहा हूँ कि आप सब ईश्वर के दिव्य प्रकाश और आशीर्वादों से घिरे हुए हैं

विस्तार में पढ़ें »

आपके प्रेम और समर्थन के लिए हमारा हार्दिक धन्यवाद

“मैं जानता हूँ कि यदि मेरे पास कुछ भी नहीं होता, तब भी मैंने आप सब में ऐसे मित्र पाए हैं जो मेरे लिए सब कुछ कर सकते हैं। और आप सब जानते हो कि मुझ में आपको एक ऐसा मित्र मिला है जो सब तरह से आपकी सहायता करेगा।

विस्तार में पढ़ें »

ऑनलाइन सार्वजनिक सत्संग 2020-21

प्रति वर्ष, योगदा सत्संग के संन्यासियों को कॉर्पोरेट संगठनों, शैक्षिक संस्थानों और संघों से आदर्श जीवन जीने की कला के कई विषयों पर सार्वजनिक सत्संग देने के लिए निमंत्रित किया जाता है। पिछले वर्ष, कोविड-19 महामारी के दौरान, चिंताओं का मुकाबला करने, आध्यात्मिकता के साथ कर्तव्यों का संतुलन बनाने आदि

विस्तार में पढ़ें »
Blankets distribution During Janmotsav, Dwarahat

जन्मोत्सव 2021 के अवसर पर किए गए सेवा कार्य

हर वर्ष, 5 जनवरी प्रत्येक वाइएसएस भक्त के लिए एक अत्यंत पावन दिवस होता है क्योंकि यह दिन हमारे परमप्रिय गुरुदेव श्री श्री परमहंस योगानन्द का आविर्भाव दिवस है। ग़रीबों की सेवा द्वारा गुरु को श्रद्धांजलि अर्पित करना इस विशेष दिवस को मनाने का एक भाग हमेशा रहा है। यह

विस्तार में पढ़ें »
Chief Minister’s Cleanliness Award for Yogoda Satsanga Vidyalaya

योगदा सत्संग विद्यालय को मुख्यमंत्री स्वच्छता पुरस्कार

योगदा सत्संग विद्यालय को लगातार दूसरे वर्ष मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार – 2020 प्राप्त हुआ। पुरस्कार झारखंड के माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा दिसंबर 3, 2020 को प्रदान किया गया। विद्यालय को पांच सितारा आंका गया और राज्य के 9 प्रतिभागी विद्यालयों में से रांची जिले का एकमात्र विजेता विद्यालय

विस्तार में पढ़ें »
Swami Achalananda Senior Monk from SRF

सेल्फ़-रियलाइज़ेशन फे़लोशिप द्वारा निदेशक बोर्ड में परिवर्तन की घोषणा

जनवरी 16, 2021 हम यह सूचित करना चाहते हैं कि दिसंबर 2020 में सेल्फ़-रियलाइज़ेशन फे़लोशिप के आदरणीय उपाध्यक्ष स्वामी अचलानन्द गिरि ने एसआरएफ़ निदेशक बोर्ड से आग्रह किया था कि उनकी बढ़ती उम्र को देखते हुए (इस वर्ष वे 95 वर्ष के हो जाएंगे!) उन्हें बोर्ड के सदस्य व संस्था

विस्तार में पढ़ें »