योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ इंडिया द्वारा महत्वपूर्ण घोषणा

कृपया नीचे दी गईं विस्तृत घोषणाएं पढ़ें। वर्तमान स्थिति और उपलब्ध सेवाओं का सारांश इस प्रकार है:

सूचना: 16 मई, 2022

हमें आपको यह सूचित करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि रांची, दक्षिणेश्वर, और द्वाराहाट में वाईएसएस के आश्रमों में अब आवास उपलब्ध है। अपने ठहरने की बुकिंग के लिए कृपया इन आश्रमों से सीधे संपर्क करें।

आप सभी का स्वागत है।

ऑनलाइन सेवाएं उपलब्ध हैं

हम आपको इनमें भाग लेने और लाभान्वित होने के लिए प्रोत्साहित करते हैं:

  • ऑनलाइन सामूहिक ध्यान-सत्र (जिसमें योगदा संन्यासियों द्वारा संचालित ध्यान-सत्र भी होंगे)
  • साप्ताहिक ऑनलाइन प्रेरणादायक सत्संग
  • वाईएसएस पाठमाला में दी गई मूल प्रविधियों — शक्ति-संचरण (शक्ति-संचार व्यायाम), एकाग्रता (हं-स: प्रविधि), तथा ध्यान (ओम् प्रविधि) — के हिन्दी पाठ अब डिजिटल प्रारूप में डेवोटी पोर्टल (devotee portal) के माध्यम से हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।
  • हमारे ऑनलाइन बुकस्टोर से योगदा की ई-बुक्स लेकर पढ़िए और ऑडियो बुक्स लेकर सुनिए (इनमें से कुछ ऑडियो बुक्स नि:शुल्क उपलब्ध हैं)।
  • यदि आवश्यक हो तो आप फोन द्वारा संन्यासियों से परामर्श के लिए अनुरोध कर सकते हैं।
  • यदि आप दान देना चाहते हों तो हमारी वेबसाइट या डिवोटी पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन ऐसा कर सकते हैं।
  • प्रेरणादायक साहित्य :जीने की कला, संचालित ध्यान-सत्र, और अन्य प्रेरणादायक विषयों का अध्ययन कर सकते हैं।

यदि आप ने अभी तक योगदा सत्संग पाठमाला  की सदस्यता नहीं ली है, तो आप हमारे ऑनलाइन आवेदन पत्र के माध्यम से ऐसा कर सकते हैं। एप्लिकेशन की कार्य समाप्ति होते ही आप उन्हें वाई एस एस पाठमाला एप में डिजिटल रूप से प्राप्त करना शुरू कर देंगे।

para-ornament

सूचना: 31 मार्च, 2022

  • योगदा सत्संग के आश्रम, ध्यान केंद्र, मंडलियाँ और रिट्रीट केंद्र अब सामूहिक ध्यान के लिए खुले हैं।

अधिक जानकारी के लिए भक्तजन YSS रांची हेल्प डेस्क से ईमेल [email protected] या फोन द्वारा संपर्क कर सकते हैं: +91 (651) 6655 555 (सोम-शनि: सुबह 9 से शाम 4.30 बजे)

para-ornament

सूचना: 15 जनवरी, 2021

हरिद्वार कुंभ मेला – 2021

  • वर्तमान कोरोना महामारी के कारण YSS इस कुंभ मेले मे कैंप नहीं लगा रहा है।
para-ornament

सूचना: 5 सितंबर, 2020

  • दिसंबर तक सभी साधना संगम और संन्यासी दौरे स्थगित कर दिए गए हैं।
para-ornament

सूचना: 15 जून, 2020

  • सितंबर के अंत तक सभी साधना संगम और संन्यासी दौरे स्थगित कर दिए गए हैं।
para-ornament

सूचना: 15 अप्रैल, 2020:

भारत सरकार द्वारा लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाए जाने के कारण, जिन सामूहिक कार्यक्रमों को हमने पहले स्थगित कर दिया था, अब वे अगली सूचना तक स्थगित किए जा रहे हैं। इसलिए, अगली सूचना तक:

  • योगदा सत्संग के सभी आश्रमों, ध्यान केंद्रों, मंडलियों और रिट्रीट केंद्रों में सभी सामूहिक ध्यान-सत्र, सत्संग एवं अन्य आध्यात्मिक कार्यक्रम रद्द रहेंगे।
  • 10 मई 2020 तक होने वाले साधना संगम, संन्यासी दौरे और रिट्रीट सहित सभी कार्यक्रम भी स्थगित कर दिए गए हैं। 10 मई के बाद के कार्यक्रमों के बारे में जानकारी अगली सूचना में दी जाएगी।
  • भक्तों से अनुरोध है कि वे योगदा सत्संग के आश्रमों और रिट्रीट स्थलों की यात्रा करने की योजना न बनाएँ, और अगर उन्होंने पहले से ही ऐसा कोई कार्यक्रम बनाया है, तो उसे रद्द कर दें।

गुरुदेव की कृपा से, इन परिस्थितियों में भी भक्तों को SRF ऑनलाइन ध्यान केंद्र (SRF Online Meditation Center) द्वारा आयोजित ऑनलाइन सामूहिक ध्यान में भाग लेने का सुअवसर मिला है। प्रति सप्ताह इन में से तीन ऑनलाइन ध्यान-सत्रों का संचालन योगदा संन्यासी करेंगे – रविवार सुबह का तीन घण्टे का लंबा ध्यान (प्रातः 6:10 – 9:30 बजे भारतीय समय अनुसार), और सोमवार और गुरुवार की शाम को एक घण्टे के ध्यान-सत्र (सायं 5:10 – 6:30 बजे भारतीय समय अनुसार)। अधिक जानकारी के लिये यहाँ क्लिक करें।

16 अप्रैल, 2020 को ध्यान-सत्र हिंदी में आयोजित किया जाएगा। प्रारंभिक प्रार्थना, समापन प्रार्थना और आरोग्यकारी प्रार्थनाएं हिंदी में होंगी, और पठन और चांट हिंदी और अंग्रेजी दोनों में होंगे।

para-ornament

सूचना: 6 अप्रैल, 2020

10 मई तक के कार्यक्रम रद्द: हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि 10 मई तक के सभी योगदा सत्संग संन्यासी दौरे और रिट्रीट रद्द कर दिए गए हैं। इनमें शिमला का साधना संगम, केरल में संन्यासियों का दौरा और नोएडा आश्रम में आगामी रिट्रीट शामिल हैं।

para-ornament

सूचना: 2 अप्रैल, 2020

योगदा पाठमाला केवल डिजिटल फ़ार्मेट में उपलब्ध

झारखंड और भारत के अन्य राज्यों में तालाबंदी के परिणामस्वरूप हमें योगदा सत्संग पाठमाला एवं अन्य सभी प्रकाशनों का डाक द्वारा वितरण अस्थायी रूप से रोकना पड़ रहा है। हालाँकि, इस समयावधि के दौरान, हम योगदा सत्संग की अंग्रेजीं पाठमाला को एक प्रॉपराईटरी ऐप के माध्यम से डिजिटल रूप में जारी रखेंगे जो कि ऐपल (iOS) और एन्ड्रॉइड उपकरणों के लिए उपलब्ध है।

इसका अर्थ यह है कि आपके नए पाठ आपको नियमित रूप से डिजिटल रूप में प्राप्त होते रहेंगे, और आप उन्हें अपने मोबाइल फोन, आई पैड, या टैब्लेट पर पढ़ कर उनका अध्ययन कर पाएंगे। प्रत्येक पाठ से संबन्धित विशेष सहायक सामग्री को भी आप ऐप के द्वारा उपयोग कर सकेंगे।

स्थिति सामान्य होने पर वे सब पाठ जो आपको तब तक डिजिटल रूप में प्राप्त हो चुके होंगे, उन्हें डाक द्वारा आप को भेज दिये जाएंगे। सामान्य परिस्थितियों में हम आपको आध्यात्मिक अध्ययन के अपने प्राथमिक स्रोत के रूप में पाठमाला के मुद्रित संस्करण का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। लेकिन हम आभारी हैं कि डिजिटल ऐप आपके लिए अस्थायी बंद के दौरान भी पाठ प्राप्त करना संभव बनाता है।

हम इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान आपसे मिले सहयोग के लिये आभारी हैं। आश्वस्त रहें कि हम आप सब के लिए प्रार्थना करते हैं, और यह स्मरण रखिए कि ईश्वर और हमारे महान गुरुजन अपने सदा-विद्यमान दिव्य प्रेम तथा आशीर्वाद से आपकी हमेशा रक्षा कर रहे हैं

योगदा पाठमाला के लिए आवेदन फॉर्म अभी भी स्वीकार किए जा रहे हैं

इस समय डाक द्वारा पाठों का वितरण नहीं हो रहा है। लेकिन हम इन पाठों के लिये नये सदस्यों के आवेदन पत्र स्वीकार करते रहेंगे। यदि आप योगदा सत्संग पाठमाला पाने के लिये इच्छुक हैं तो हम आपको आमंत्रित करते हैं कि आप इस के लिये आवेदन करें। जैसे ही प्रिंट किए गए पाठों का डाक द्वारा वितरण संभव हो पाएगा, हम आपको इस के बारे में सूचित करेंगे। हालांकि, जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, इस समय अवधि के दौरान, अंग्रेजी पाठ के छात्र उन्हें YSS ऐप पर पढ़ सकेंगे। हर दो सप्ताह में पाठ छात्रों को देखने के लिए ऐप में नए पाठ अनलॉक हो जाएंगे।

para-ornament

सूचना: 26 मार्च, 2020

YSS पाठ मेलों को अस्थायी रूप से रोका गया

योगदा सत्संग पाठ और अन्य सभी भौतिक प्रकाशनों और उत्पादों – झारखंड और भारत के अन्य राज्यों में तालाबंदी के परिणामस्वरूप, हम अस्थायी रूप से कोई भी मेल भेजने में असमर्थ हैं। पाठ के लिए आपकी वर्तमान सदस्यता अस्थायी रूप से रोक दी गई है, और जब हमारा परिचालन सामान्य हो जाता है, तो हम मेलिंग फिर से शुरू करने की आशा करते हैं।

हम वर्तमान में इस स्थिति के लिए अल्पकालिक समाधानों की खोज कर रहे हैं और ताकि आप की जरूरतों के अनुसार आप को बेहतर सेवा मिल सके इस विकल्प की घोषणा की जाएगी । अन्तरिम में, हम आपको इस समय का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, जो आपके पास पहले से प्राप्त पाठ की समीक्षा के लिए है, वाईएसएस ध्यान तकनीकों का अभ्यास, और भगवान के साथ अपने व्यक्तिगत संबंधों को गहरा करने के लिए। यदि आपने पहले से ऐसा नहीं किया है, तो हम आपको YSS eNewsletter की सदस्यता लेने के लिए भी प्रोत्साहित करेंगे।

हम इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान आपसे मिले सहयोग के लिये आभारी हैं। आश्वस्त रहें कि हम आप सब के लिए प्रार्थना करते हैं, और यह स्मरण रखिए कि ईश्वर और हमारे महान गुरुजन अपने सदा-विद्यमान दिव्य प्रेम तथा आशीर्वाद से आपकी हमेशा रक्षा कर रहे हैं

योगदा पाठमाला के लिए आवेदन फॉर्म अभी भी स्वीकार किए जा रहे हैं

इस समय डाक द्वारा पाठों का वितरण नहीं हो रहा है। लेकिन हम इन पाठों के लिये नये सदस्यों के आवेदन पत्र स्वीकार करते रहेंगे। यदि आप योगदा सत्संग पाठमाला पाने के लिये इच्छुक हैं तो हम आपको आमंत्रित करते हैं कि आप इस के लिये आवेदन करें। जैसे ही प्रिंट किए गए पाठों का डाक द्वारा वितरण संभव हो पाएगा, हम आपको इस के बारे में सूचित करेंगे।

para-ornament

सूचना: 18 मार्च, 2020:

जिन सामूहिक कार्यक्रमों को हमने 31 मार्च 2020 तक रद्द कर दिया था, कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते संक्रमण को दृष्टि में रखते हुए, अब वे 20 अप्रैल, 2020 तक रद्द किए जा रहे हैं। इसलिए, 20 अप्रैल, 2020 तक :

  • योगदा सत्संग के सभी आश्रमों, ध्यान केंद्रों, मंडलियों और रिट्रीट केंद्रों में सभी सामूहिक ध्यान-सत्र, सत्संग एवं अन्य आध्यात्मिक कार्यक्रम रद्द रहेंगे।
  • अप्रैल 2020 में होने वाले साधना संगम, संन्यासी दौरे और रिट्रीट सहित सभी कार्यक्रम भी रद्द कर दिए गए हैं।
  • भक्तों से अनुरोध है कि वे योगदा सत्संग के आश्रमों और रिट्रीट स्थलों की यात्रा करने की योजना न बनाएँ, और अगर उन्होंने पहले से ही ऐसा कोई कार्यक्रम बनाया है, तो उसे रद्द कर दें।

भक्तों को srfonlinemeditation.org पर ऑनलाइन समूह ध्यान में भाग लेना जारी रह सकता है, जहां YSS संन्यासी अब सोमवार और गुरुवार को शाम के सत्रों का नेतृत्व करेगा (शाम 5:10 बजे से शाम 6:30 बजे IST)। अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

para-ornament

सूचना: 5 मार्च, 2020

जैसा कि आप सभी जानते हैं, भारत में कोरोना वायरस फैलने लगा है। हमने इस क्षेत्र में सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों से परामर्श किया है, और उन्होंने हमें सभी गैर-जरूरी मण्डलों को निलंबित करने की दृढ़ता से सलाह दी है। उनकी सलाह को ध्यान में रखते हुए, और सावधानी और देखभाल की प्रचुरता से बाहर, हम आपको निम्नलिखित निर्णयों के बारे में सूचित करने के लिए गहरा खेद है, जो तुरंत प्रभावी होगा और अगली सूचना तक ऑपरेटिव रहेगा:

कृपया इस महत्वपूर्ण अपडेट को नोटिस बोर्ड, ईमेल, एसएमएस और व्हाट्सएप के माध्यम से सभी भक्तों के साथ जल्द से जल्द साझा करें, इस चुनौतीपूर्ण अवधि के दौरान उन्हें सभी मानवता के लिए प्रार्थनाओं में शामिल होने का अनुरोध करें।

अधिक जानकारी के लिए भक्तजन YSS रांची हेल्प डेस्क से ईमेल [email protected]या फोन द्वारा संपर्क कर सकते हैं – +91 (651) 6655 555 (सोम-शनि: सुबह 9 से शाम 4.30 बजे)

इस चुनौतिपूर्ण समय में हमें गुरुदेव के इन वचनों को ध्यान में रखना चाहिये: “चाहे आप जिस किसी भी कारण से भयभीत हों, अपने मन को उस विषय से हटा लीजिये और भगवान पर छोड़ दीजिये । ईश्वर पर पूर्णतः विश्वास रखें… हर रात सोने से पहले, प्रतिज्ञापन करें, “परमपिता मेरे साथ हैं, मैं उनकी शरण में हूँ।” मानसिक रूप से स्वयं को ईश्वर और उनकी ब्रह्मांडीय ऊर्जा से परिवृत कर लें।” गुरुदेव चाहते थे कि बीमारी से बचने के लिए हम सहज बुद्धि और व्यावहारिक ज्ञान से प्रेरित बाहरी साधनों और तरीकों का इस्तेमाल करें। लेकिन उन्होंने हमें ईश्वर के प्रेम और सुरक्षा के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण और विश्वास रखने का भी आग्रह किया है। ध्यान और प्रार्थना में महसूस होने वाली आंतरिक समस्वरता हमें ईश्वर की रोग-निवारक शक्ति के अनंत भंडार तक पहुँचने में सक्षम बनाती है, जिससे हम अपनी और उन सभी लोगों की सहायता कर सकते हैं जिन्हें मदद की ज़रूरत है।

शेयर करें

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email